Real Sex Story in Hindi | चाची ने खोला चूत का पिटारा

Sex Story in Hindi
Sex Story in Hindi

चाची ने खोला चूत का पिटारा – कुंदन के कपडे सारे भीग गए थे. वो बरसात में नहा के जो आया था. अब उसे डर था की घर ऐसे भीगे कपड़ो में गया तो माँ और दीदी पका देंगी बोल बोल के. उसके मन में तभी एक विचार आया और वो प्रीती आंटी के घर की और चल पड़ा. वो उसे प्रीती चाची कह के बुलाता था. प्रीती उसकी पंजाबी पड़ोसन थी जो अपने हसबंड बिट्टू और दो साल के बेटे हरदीप के साथ उसी मोहल्ले में रहती थी. बिट्टू की अहमदाबाद में ही मोबाइल शॉप थी और वो अक्सर घर के बहार ही रहता था. उसके घर में नौकर नितिन और कामवाली रेखा भी थे. कुंदन ने सोचा की प्रीती चाची के वाशिंग मशीन में वो कमीज़ सुखा के घर जायेंगा तो डांट कम सुनने को मिलेंगी. वो अक्सर अपनी पंजाबी पड़ोसन के वहाँ आता जाता रहता था इसलिए उसे पता था की किचन का दरवाजा खुला होता हैं इसलिए वो किचन से ही अंदर घुसा. और जैसे ही उसने प्रीती चाची के कमरे में नजर डाली उसके पाँव के निचे से जमीन ही खिसक गई. चाची की चूत का पिटारा खुला हुआ था कमरे के अंदर. चाची प्रीती और नौकरानी रेखा दोनों कुतिया बन के उलटी पड़ी हुई थी और नौकर नितिन अपने टारजन छाप लंड से चाची की चूत को पेल रहा था. नौकरानी रेखा अपनी गांड और चूत के छेद में बारी बारी ऊँगली कर रही थी.

चाची की चूत नौकर ले रहा था || Sex Story in Hindi

कुंदन को यह देख के बड़ी ही हैरानी हुई. उसे नहीं पता था की प्रीती चाची की चूत के अंदर इतनी गरमी हैं. अभी उसके दिमाग में एक एक कर के वो सारी घटना फ्लेश होने लगी जब चाची उसे काम के लिए बुलाती थी. अभी उसे ख्याल आया की क्यूँ चाची खुली नाईट गाउन में ही उसके सामने बैठ जाती थी. और क्यूँ वो उसे छोटे छोटे काम के लिए हैरान करती थी. वो अकस्मात से चाची की गांड का घिस जाना भी शायद आंटी की ही चाल थी. कुंदन ने वही छिप के आंटी के पुरे खेल को देखा. नितिन अपना 8 इंच लंबा लंड चाची को जोर जोर से घोंच रहा था और प्रीति चाची के मुहं से आह आह ओह ओह ओह आह मजा आ रहा हैं, और जोर से करो की आवाजें निकल रही थी.

नितिन ने पुरे 10 मिनिट चाची की चूत को पेला और फिर उसने अपना लंड रेखा की गांड में डाल दिया. चाची अब रेखा के निचे आ गई और वो उसकी चूत को चाटने लगी. रेखा की उम्र मुश्किल से 20 साल की होंगी. शायद प्रीती चाची ने ही उसे वभी ऐसा चुदक्कड़ बनाया था जो इतने लम्बे लंड को वो अपनी गांड में ले रही थी. कुंदन के लंड ने अब जवाब दे दिया था उसमे कम्पन आ रहे थे और वो लोहे की माफिक टाईट हुआ पड़ा था. कुंदन आँखे फाड़ फाड़ के इस देसी थ्रीसम को देख रहा था. नितिन जोर जोर से अपना लौड़ा रेखा की गांड में दे रहा था और निचे लेट के प्रीती चाची चूत को चाट रही थी. तभी कुंदन के दिमाग में एक आइडिया आया. उसने अपने मोबाइल को निकाला और उसमे इस देसी सेक्स की वीडियो उतारने लगा. नितिन का वीर्य जैसे ही निकला कुंदन ने वीडियो बंध किया और वो किचन के रस्ते ही भाग खड़ा हुआ.

पूरी रात उसकी करवटें बदलते ही निकली. कुंदन की आँखों के सामने वही चाची की चूत और रेखा की पतली गांड आ रहे थे. वो थोडा नींद लेता और दुसरे ही पल नितिन की जगह खुद को सपने में देखता. उसे ख्याल आ रहे थे की प्रीती की चूत और रेखा की गांड वहीँ ले रहा हैं. और इसी उत्तेजना में उसकी नींद टूट जाती. उसने अपनी चद्दर को सर तक खिंचा और मोबाइल निकाल के असली सेक्स वीडियो देखी प्रीती चाची की. फिर वो अपने हाथ से लंड को हिला के so गया. वीर्य के निकलने के बाद ही उसे नींद आई.

सुबह जब वो बहार खड़ा हुआ ब्रश कर रहा था तभी उसने प्रीती चाची को गार्डन में पानी की पाइप से पानी छांटते हुए देखा. प्रीती चाची अभी भी मस्त सेक्सी लग रही थी. चाची ने कुंदन को देख के स्माइल दी और कुंदन ने ब्रश घिसते हुए ही स्माइल का जवाब दिया. कुंदन सोच रहा था की चाची का यह रूप और कुछ घंटे पहले वाले रूप में कितना अंतर हैं.  वो मनोमन अब चाची की चूत को पाने के ख्याल में ही मग्न था.

चूत
चूत

मौसी की बेटी को चोदना सिखाया | तीर निशाने पे जा के ही लगा || Sex Story in Hindi

दे दो वरना अंकल को कह दूंगा || Sex Story in Hindi

दो दिन ऐसे ही लंड पे धोके के साथ बीतें और तीसरे दिन कुंदन को लगा की आज कुछ मौका हैं. मंडे का दिन था और उसने नितिन को रिक्शा के अंदर रेखा के साथ जाते हुए देखा. बिट्टू अंकल तो मोबाइल शॉप में ही रहते थे इसलिए चाची घर में अकेली थी. कुंदन फट से चाची के वहां गया और इसबार उसने डोरबेल बजाई. प्रीती चाची ने ही दरवाजा खोला और कुंदन को देख के वो बोली, “अरे आओ कुंदन, दो दिन से कुछ अपसेट लग रहे हो तुम.”

कुंदन: मैं आपकी वजह से ही अपसेट हूँ.

कुंदन अंदर आया और चाची ने दरवाजे को बंध करते हुए पूछा, “मेरी वजह से कैसे अपसेट हो?”

कुंदन: आप नितिन को मजे करवाती हो और मैं कोरा ही रह गया.

चाची: क्या?

कुंदन: ये देखो.

इतना कह के कुंदन ने चाची की थ्रीसम वाली वीडियो चालु कर दी. प्रीती चाची अपनी हॉट वीडियो देख के चौंधिया गई और उसने कुंदन के हाथ से मोबाइल छीन लिया.

चाची: तुझे शर्म नहीं आती है यह सब करते हुए. मैं तेरे चाचा को बताउंगी की तूने मुझ से जबरदस्ती की कोशिश की.

कुंदन: हा हा हा हा हा…मुझे पता था की एक मोबाइल में सबूत रखना खतरे से खाली नहीं हैं. मैंने इसकी 2-3 कॉपी और बनाई हैं. आप बिट्टू अंकल को मुहं से बताना और मैं आप की सेक्स वीडियो ही उन्हें दिखा दूंगा. फिर तो वो यही समझेंगे की मैंने आप को रंगेहाथ पकड़ा इसलिए आप बहाने और जूठे इल्जाम दे रही हैं.

चाची: तुझे क्या चाहिए ये बता.

कुंदन: थोड़ी सी जेबखर्ची और मेरी इस सेक्सी चाची की चूत का मजा.

चाची: तू मुझे ब्लेकमेल कर रहा हैं.

कुंदन: अरे नहीं चाची जी मैं तो आप को मदद कर के दे रहा हूँ. नितिन का क्या भरोसा वो कहीं कहीं पे मुहं मारता होंगा. आप को कहीं सिफिलिस या एड्स हो गया तो आप की तो माँ बहन एक हो जायेंगी. मैं आप को अपने साफ़ लंड से वही मजा दे सकता हूँ. हाँ नितिन से एक इंच छोटा हैं लेकिन मोटा उससे ज्यादा हैं.

चाची इधर उधर देखने लगी और फिर वो बोली, “हरदीप निचे सो रहा हैं. हमें ऊपर के बेडरूम में जाना पड़ेंगा.”

इतना कह के यह सेक्सी पंजाबी आंटी चल पड़ी और कुंदन अपना खड़ा लंड लिए उसके पीछे ही चल रहा था. कुंदन आंटी की मटकती हुई गांड को देख के और भी उत्तेजित हो रहा था. वो अपनेआप को रोक नहीं पाया और उसने प्रीती आंटी की गांड पे हाथ मार ही दिया. आंटी उसे बेडरूम में ले के आई और दरवाजे को अंदर से बंध करने लगी. कुंदन ने आंटी के बूब्स पकडे और वो कमीज़ के ऊपर से ही वो 36 की साइज़ की चूंची को मसलने लगा. चाची ने कुंदन की और मुड़ के अपने हाथ ऊपर किये जिस से उसकी छाती और भी बहार आ गई. कुंदन अब दोनों बूब्स को जोर जोर से दबा के मजे ले रहा था.

चूत चटवाई खड़े खड़े || Real Sex Story in Hindi

कुंदन बूब्स मसल रहा था और प्रीती चाची की जबान बहार आके उसके होंठो के ऊपर घूम रही थी. कुंदन ने यह देखा और उसे और भी मजा आने लगा. उसने अब चाची की कमीज़ को ऊपर किया और अंदर की काली ब्रा को खोलने का व्यर्थ प्रयास किया. चाची ने जब देखा की कुंदन से ब्रा नहीं खुल रही हैं तो उसने पीछे हाथ कर के हुक को खोल दिया. ब्रा के हट्ते ही वो बड़े बड़े बूब्स अब झूल से गए. चाची के बूब्स बड़े ही लचीले और गोल थे. कुंदन ने चाची के हाथ ऊपर करवा के कमीज़ को उतार फेंका और साथ में ब्रा को भी साइड में कर दिया. चाची के सेक्सी उभारों में वो अपना मुहं डाल के उसे चूस रहा था और चाची के मुहं से आह आह ओह ऊऊऊऊईई की आवाजें आ रही थी. तभी कुंदन के लंड पे चाची का हाथ आया और वो उसे दबाने लगी. चाची के लंड छूने से कुंदन को और भी उत्तेजना हो रही थी.

कुंदन का हाथ अब चाची की सलवार के नाड़े पे गया. उसने एक ही झटके में उसे खिंचा और चाची की सलवार ढीली कर दी. चाची ने गांड को आगे की और सलवार को उतार दिया. कुंदन ने पहली बार किसी पंजाबी आंटी को पेंटी में देखा था. गोरी गोरी आंटी उस काली पेंटी में और भी हसीन दिख रही थी. कुंदन का हाथ अब पेंटी की साइड में घुसा और उसने पेंटी को निचे सरका डाला. चाची की चूत तो उसने 2 दिन पहले देखी ही थी. चाची की चूत आज भी वही मादक और सेक्सी लग रही थी. कुंदन एक नजर बस उस चूत को देखता ही रह गया.

चाची: अब इसका पेंटिंग बनाना हैं क्या जो ऐसे देखते ही जा रहे हो?

कुंदन: चाची की चूत हैं ही ऐसी की देखते ही रहने का मन कर रहा हैं. चाची आप ने मुझे मौका दिया होता तो नितिन से पहले?

चाची: मैंने तुझे बहुत बार हिंट दी थी लेकिन तू समझा ही नहीं. कितनी बार मैंने अपनी गांड तेरे से घिसी, कितनी बार तुझे झुक झुक के अपने चुन्चो की गली दिखाई. मज़बूरी थी इसलिए नितिन का ही लेना पड़ा. तू मेरे इशारे समझ नहीं रहा था और बिट्टू को अपने धंधे से फुर्सत ही नहीं हैं. मैं भी एक औरत हूँ और मुझे भी सेक्स करना होता हैं. नितिन को मैंने एक बार रेखा की चुदाई किचन में करते देखा और उसके लंड ने मुझे मोह लिया. मैंने दोनों को उसी दिन से अपने साथ सेक्स करने के लिए राजी किया हैं.

कुंदन के हाथ चाची की चूत के ऊपर फिरने लगे और उसने कहा, “वैसे रेखा भी बड़ी सेक्सी हैं. नितिन के दो दोहरे मजे हैं.”

चाची की चूत को छूने से उसकी आह निकली और वो बोली, “रेखा एक नम्बर की रंडी हैं वो नितिन से रोज चुदती हैं और पीछे भी देने को कहती हैं. तू कहें तो मैं तेरी सेटिंग उसके साथ भी कर सकती हूँ.”

कुंदन: वो बाद में देखेंगे, वैसे भी मुझे बूढी चूत लेने का बड़ा सनक हैं. रेखा की भी लेंगे फिर कभी.

इतना कह के नितिन ने आंटी को जांघ के पास से पकड़ा और उसकी जांघ को अपने कंधे पे रख दिया. चाची की चूत अब कुंदन के बिलकुल सामने थी जिसे कुंदन देख के ही खुश हो रहा था. चाची ने जैसे ही कुंदन के सर को पीछे से दबाया उसकी जबान चाची की चूत के उपर फिरने लगी. चाची के तोते ही उड़ गए कुंदन के चूत चाटने से. वो उसके माथे को अपनी चूत के ऊपर दबा रही थी और उसे कह रही थी, “कुंदन मजा आ रहा हैं मुझे. अपनी जबान को रगड़ डालो मेरी चूत के ऊपर. अपनी चाची की चूत का दाना भी खा लो आज तुम.”

कुंदन कुछ नहीं बोला लेकिन उसके चूत चाटने की गति बढ़ गई. वो चूत के छेद में जबान डाल के उसे अंदर बहार कर रहा था. और फिर वो चूत के दाने को अपने दांतों के बिच में दबा के उसे खाने की एक्टिंग कर रहा था. प्रीती चाची उसके माथे को अपनी चूत में और भी जोर से दबा रही थी. चाची की चूत चाट के कुंदन को भी बड़ा ही मजा आ रहा था. वो अपनी जबान को लपलप कर के चूत को जैसे की थूंक से पूरा भिगों रहा था. चाची की चूत मस्त चिकनी हो चुकी थी. एक तो उसपे कुंदन का थूंक था और दूसरी और से चूत का पानी भी छुट चूका था.

चाची की चूसने की बारी || Real Sex Story in Hindi

चूत को पूरा भिगोने के बाद कुंदन ने उसकी चुसाई बंध की और उसने जांघ को निचे कर दिया. अब वो दिवार के सहारे खड़ा हो गया. कुंदन का लंड एकदम टाईट था और वो किसी मोबाइल टावर की माफिक खड़ा हुआ था. कुंदन ने चाची से कहा, “चाची की चूत तो मैं चाट दी हैं, अब चाची मेरा लंड चुसेंगी ना.?”

प्रीती को तो बस इशारे की ही देर थी. वो निचे बैठ गई और कुंदन के लौड़े को अपने हाथ में ले लिया. वो लंड को हिलाने लगी और फिर लपक के उसे अपने मुहं में भर लिया. कुंदन को इतना मजा आया की उसका एक एक रोंक्टा खड़ा हो गया. चाची ने अपने मुहं में लोलीपोप की तरह लंड को भर लिया था और वो उसे पकड के अपने मुहं में अंदर बहार कर रही थी. कभी वो लंड को पकड के ऐसे चूस रही थी जैसे की वो अपने दांतों में टूथब्रश को घिस रही ही. प्रीती चाची ने कुंदन के टट्टे और सुपाड़ें को भी चूसने में बाकी नहीं रखा. वो लंड को गले तक भर लेती थी और फिर उसके ऊपर बड़े ही सेक्सी अंदाज में अपनी जबान घुमाती थी. कुंदन को लग रहा था की वो सातवें आसमान पे हैं. चाची की चूत के ख्याल और इस सेक्सी चुसाई को अनुभव कर के कुंदन बहुत ही खुस हो गया था. वो नहीं चाहता था की उसका वीर्य चाची के मुहं में ही निकल जाए. उसने चाची का मुहं पकड के अपने लंड से हटा दिया. चाची ने जब मुहं हटाया तो वो किसी रंडी से कम नहीं लग रही थी.

कुंदन: चाची की चूत को चोदने का मुहर्त हो गया हैं अब.

चाची: चोद दो मुझे अपने मोटे लंड से. उस से पहले मैं एक कॉल कर लूँ नितिन को. मैं उन्हें आधी घंटे बाद आने को कह दूँ ताकि वो खलल ना डाले.

आंटी ने कुंदन को एक मिनिट रुकवाया और उसने नितिन को आगे की मार्केट से कुछ सामान लाने को कह दिया. उसने फोन काट के तुरंत ही बिस्तर में लंबा दिया. टाँगे फैलाते ही चाची की चूत दिखने लगी. चाची ने अपने हाथ से कुछ थूंक लिया और चूत के ऊपर रगड़ने लगी. कुंदन अब जांघो के बिच में था और उसका लंड उसके हाथ में ही था. चाची ने कुंदन से उसका लंड लिया और अपनी तपी हुई चूत के ऊपर रख दिया.

चाची की चूत चुद गई || Real Sex Story in Hindi

प्रीती चाची की चूत पे कुंदन अपने लंड को रगड़ने लगा और चाची बोली, “इतना मत तडपाओ अपनी चाची को. डाल दो अपना औजार इसके अंदर.”

कुंदन ने एक झटका अपनी कमर से दिया और उसका लंड चाची की चूत में गोता लगा बैठा.

चाची: वाह मजा आ गया, कैसा मोटा लंड हैं तेरा, नितिन से भी ज्यादा मजा देता हैं यह तो.

कुंदन अपने लंड की तारीफ़ सुन के फुला ही नहीं समाया. वो अब चाची की चूत के अंदर जोर जोर से झटके देने लगा. कुंदन का लंड चूत से मस्त अंदर बहार हो रहा था क्यूंकि चुदवा चुदवा के प्रीती की चूत ढीली हो चुकी थी. लेकिन चाची की चूत को चोदने का मजा कुंदन को बहुत ही आ रहा था. चाची आह आह कर रही थी और कुंदन लंड को चूत में मार रहा था. प्रीती आंटी ने अब अपनी सेक्सी गांड को हिलाना चालु किया और वो विपरीत दिशा से धक्के देने लगी. कुंदन का लौड़ा चाची की चूत को मस्त पेल रहा था. पुरे रूम में आह आह की आवाजें आ रही थी और साथ में फच फच का म्युज़िक भी था. फच फच की आवाज चाची की जांघ से कुंदन की जांघ टकराने से आ रही थी, और छोटी सी आवाज चूत के अंदर लंड के अंदर बहार होने से भी आ रही थी.

चाची के हाथ अब कुंदन की कमर पे थे और वो वहाँ पे नाख़ून गड़ा के खरोंच रही थी. कुंदन को यह सब से और भी उत्तेजना आ रही थी. कुंदन और भी जोर से अपने लंड को चूत में मारने लगा. चाची ने अब कमर के साथ साथ कुंदन के कंधे के भाग को भी खरोंच दिया क्यूंकि कुंदन के मोटे लंड से चाची की चूत को अलग ही उत्तेजना आ रही थी.

चाची: और जोर से चोदो मुझे कुंदन. मुझे तुम्हारा लंड भा गया हैं. चोदो मुझे अंदर तक मैं आज तुम्हारी रंडी बनना चाहती हूँ.

कुंदन: ये ले बेन्चोद, साली रंडी. ले मेरा लंड अपनी चूत के अंदर और दबा अपनी चूत के होंठो को. मादरचोद नौकर से चुद्वाती थी अब असली मरदाना लंड की चौड़ाई का मजा लुट. हिला अपनी देसी गांड को और चोद मेरे लंड को अपनी चूत की गुफा से.

कुंदन और प्रीती दोनों को ही ढेर सा पसीना हो रहा था और दोनों की ही साँसे फूली हुई थी. कुंदन को पता था की अब उसका लंड जवाब देने वाला हैं. उसने चाची को चोदते हुए उससे कहा, “चूत में निकालूं क्या अपना माल.?”

चाची उछलते हुए बोली: हाँ मेरी चूत में ही निकाल मादरचोद, बहार क्या चींटियों को खाने के लिए निकालेंगा.

कुंदन: ये ले मेरी रंडी चाची.

और फिर कुंदन अपने लंड को जोर जोर से चाची की चूत के अंदर ठोकने लगा. चाची भी उसके धक्को का जवाब अपनी चौड़ी गांड के धक्को से दे रही थी. कुंदन की गति अब फुल हो गई थी और वो लंड को ठोकने में जरा भी कसर नहीं कर रहा था. तभी उसके बदन का सारा खून जैसे की लंड की और बहने लगा और उसके मुहं  से आवाज आई, “ले मेरी रंडी चाची, मेरे लंड की मलाई तेरी चूत में दे रहा हूँ.”

प्रीती चाची की चूत के अंदर सारा वीर्य निकल पड़ा और उसने कुंदन को अपनी बाहों में जकड़ लिया. कुंदन ने दो झटके और मारें और अपने लंड का सारा माल चूत में निकाल दिया. दोनों ही थक के निढाल हो गए और एक दुसरे की बाहों में ही लेटे रहें.

5 मिनिट बाद चाची उठी और उसने कुंदन के लंड को देख के कहा, “सच में बड़ा मजा आ गया. तू अब मुझे रोज चोदना.”

कुंदन ने पेंट पहनते हुए कहा, “चाची की चूत तो मैं लूँगा ही साथ में उसकी गांड भी लेनी हैं. मुझे रेखा का भी जुगाड़ कर के देना आप, उसकी गांड बड़ी पतली और सेक्सी हैं.” आंटी हंस पड़ी और कुंदन उसके घर से बहार निकल गया.

मित्रो आप को चाची की चूत चुदाई की यह कहानी कैसी लगी. क्या आप लेखक के प्रयासों के बदले में इसे फेसबुक पर शेयर कर सकते हैं? आप लोगों की मदद से ही हम आगे बढ़ सकते हैं.

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.